अक्स -Aashirwad

posted Feb 16, 2014, 4:34 AM by A Billion Stories   [ updated Feb 16, 2014, 4:52 AM ]
कुछ भीगे भीगे एहसास
चंद लम्हों का साथ
कुछ दिल में कैद मीठी यादें
वो खुशनुमा पल
वो बिखरें वादे

तेरे साथ गुज़ारा हुआ कल
वो वफ़ा के किस्से, वो प्यार के पल
कभी हँसाते हैं, कभी रुलाते हैं
रातों को जगाते हैं
तन्हा सा कर जाते हैं

तेरे अक्स के निशाँ
क्यूँ मुझे सताते हैं
क्यों लौट के वापस आते हैं
मेरे ज़हन में बस जाते हैं
जाने वाले तो एक दिन चले जाते हैं
Aashirwad
 


Photo by:
Submitted by: Aashirwad
Submitted on: Sun Feb 16 2014 02:19:38 GMT+0530 (IST)
Category: Original
Language: हिन्दी/Hindi



- Read submissions at http://abillionstories.wordpress.com
- Submit a poem, quote, proverb, story, mantra, folklore, article, painting, cartoon, drawing, article in your own language at http://www.abillionstories.com/submit

Comments